ना #बैंक #की #EMI #रुकी ना ही बिजली का बिल और ना ही स्कूल की फीस, मध्यम वर्गीय नौकरी और व्यापार वाले परिवार पर संकट ही संकट । राष्ट्रपति पुरस्कृत वरिष्ठ पत्रकार पी.के. सिंह के कलम से….

#ना #बैंक #की #EMI #रुकी ना ही बिजली का बिल और ना ही स्कूल की फीस, मध्यम वर्गीय नौकरी और व्यापार वाले परिवार पर संकट ही संकट । राष्ट्रपति पुरस्कृत वरिष्ठ पत्रकार पी.के. सिंह के कलम से….


 
आज पूरा देश #लॉक #डाउन है।।लॉकडाउन के दौरान सरकार व स्वयमसेवी संगठन गरीब के भोजन की व्यवस्था कर दे रही और अमीर को कोई दिक्कत नही पर इन सब के बीच पीस रहा मध्यम वर्गीय परिवार।।लॉकडाउन में मध्यम और निम्न मध्यम वर्गीय परिवार पर मुसीबत का पहाड़ टूटा पड़ा है।। वो लोगो से मांग भी नही सकते और जता भी नही सकते।। सरकार फीस माफ करने को बोल रही,ई एम आई ना कटने का आदेश दी है,टैक्स रिबेट मिलेगा पर ये सब केवल कहने की बात रह गयी है।। ई एम आई कट गई,कुछ स्कूल वाले प्रेशर देना भी शुरू कर दिए साथ के साथ बिजली बिल भी आ गया है और सुनिय अब तो मीटर भी स्मार्ट हो गया है 1000 रुपये ज्यादा ही बिल भेज रहा अगर नही जमा करने पर उसपर ब्याज लगना शुरू हो जाएगा क्योंकि सरकार बिजली पर कोई रियायत नही दी है ।।


आज मध्यम वर्गीय परिवार की जमा पूंजी टूटने लगी है पर उनको सुनने वाला और उनकी पीड़क समझने वाला कोई नही है।।सरकार के वादे कागज में सिमट के रह गए है ।।छोटे मध्यम दुकानदारों की बिक्री शून्य हो गयी है वो भी पूजी तोड़ खाने को मजबूर हो रहे।।मध्यम और छोटे उद्योगों में काम करते है उन्हें वेतन भी नही मिल रहा।।वही दूसरी तरफ उन्हें ये भी नही मालूम कि उनकी नौकरी बची है कि चली गयी है।।वो जो गम्भीर बीमारी और भविष्य के लिए निधि बचाये थे उसी में से निकाल कर अपना भरण पोषण कर रहे है।।कितने ऐसे भी लोग है जो दो टाइम ठीक से खा नही पा रहे ।।


इस सन्दर्भ मे अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए एक निजी फर्म में काम करने वाले व्यक्ति ने बताया कि मैं जहा काम करता था वहां 22 अप्रैल तक का वेतन मिला।। उसके बाद मालिक ने कहा जब दुकान खुलेगी तब आना।। उधर मैं किश्त पर मोटर साईकल लिया था जिसकी क़िस्त कट गई ।।कुल मेरे पास 3500 बचे थे जो अब खत्म हो गए।।अब जो बचत के पैसे बचे थे उसी से खर्चा चल रहा।।उधर 2000 रुपये बिजली का बिल आ गया है ।।अब समझ मे नही आ रहा कहा से भरु।। ना भरने पर उस पर भी ब्याज आ जाएगा।। अब एफडी तोड़वाना ही चारा बचा है ।


 


ऐसी भयावह स्तिथि को देखते हुए उत्तरप्रदेश व केंद्र सरकार को मध्यम वर्गीय परिवार की पीड़ा को।समझते हुए उन्हें राहत देने के लिए पैकेज का एलान करना चाहिए।। साथ के साथ आने वाले बिजली बिल पर भी भारी छूट दे और निजी स्कूलों पर लगाम लगाए।।वही बैंकों को टाइट करते उन्हें ईएमआई पर विशेष छूट घोषित करने के लिए निर्देशित करना चहिये।। नही तो इस वर्ग एक भारी समस्या पैदा हो सकती है और भुखमरी के मुहाने पर पहुच सकते है।।फिर पता चले साहब ये कोरोना से नही आत्मा हत्या या मानसिक दबाव से ज्यादा मरने लगे है।।अभी समय है सरकार को चेत जाना चाहिए और उचित कार्यवाही करते हुए मध्यमवर्गीय परिवार पर विशेष ध्यान देना चाहिए।।


#MyogiAdityanath
#PMO #INDIA
#NAMO
#ZEENEWS
#NDTV


Popular posts
पेड़ पर उल्लू बैठा है बर्बाद बगीचा करने को........ कबीर की धरती पर
Image
रीलेक्सो टीम हुई विजयी ।
नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह # गरीबों की मसीहा#कठिन परिस्थितियों में है देश के साथ
Image
सीएम ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ की वीडियो कांफ्रेंसिंग*गोरखपुर
Image
संतकबीरनगर *युवा कल्याण अधिकारी और बाबू पर पीआरडी के जवानों ने लगाया पैसा लेकर ड्यूटी लगाने और  वेतन न  देने का आरोप*
Image