गर्भावस्था में गर्भनाल बच्चों को देता है पोषण -सही पोषण बच्चे के विकास और मां के स्वास्थ्य के लिए जरुरी - सुरक्षा के साथ-साथ मिलता है पोषण देवरिया, 27 सितम्बर। गर्भनाल महिला के ही शरीर का अभिन्न अंग होता है, जो गर्भावस्था के दौरान बच्चे को सुरक्षा और पोषण देने का काम करता है। बच्चा इसी के सहारे मां के गर्भ में जीवित रहता है। गर्भवती इसी नाल के माध्यम से ही अपने बच्चे से जुड़ी होती हैं। सही पोषण बच्चे के विकास और मां के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरुरी है। मां का पोषण नितांत आवश्यक है ताकि गर्भनाल के जरिये पेट में पल रहे बच्चे को भी सही पोषण मिल सके। जिला महिला अस्पताल की प्रभारी प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) डॉ. अल्पना रानी का कहना है, ‘‘गर्भनाल कई तरीकों से बच्चे के लिए महत्वपूर्ण होती है। बच्चे के कुल वजन का छठा हिस्सा इसी गर्भनाल का होता है। बच्चे के विकास में गर्भनाल अहम भूमिका निभाती है।‘’ सीएमएस ने बताया कि गर्भनाल ही बच्चे के विकास को प्रेरित करती है। इसी की वजह से बच्चा मां के गर्भ में जीवित रहता है। यह सुरक्षा के साथ-साथ पोषण देने का भी काम करती है। यह बच्चे को कई तरह के संक्रमण से सुरक्षित रखने काम करती है। गर्भनाल शरीर में लैक्टोजन के बनने में मदद करती है, जो मां के शरीर में दूध बनने की प्रक्रिया को प्रेरित करता है। गर्भनाल मां और बच्चे को जोड़ने का काम करती है। मां जो कुछ भी खाती है, आहार नाल के माध्यम से उसका पोषण बच्चे को भी मिलता है। गर्भनाल बच्चे के लिए फिल्टर की तरह भी काम करती है। यह उस तक सिर्फ पोषण पहुंचाती है और विषैले पदार्थों को भ्रूण तक नहीं जाने देती। बच्चे के जन्म के कुछ दिनों बाद नाल खुद ही सूखकर गिर जाती है। इसका काम केवल बच्चे को मां के गर्भ में पोषण और विकास के लिए आवश्यक तत्व देने का है। गर्भावस्था में खाने का खास ध्यान गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपने खाने का खास ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि सही पोषण बच्चे के विकास और मां के स्वास्थ्य दोनों को बनाए रखने के लिए जरूरी है। महिलाओं को ध्यान रखना चाहिए कि गर्भावस्था के दौरान उनके पोषण में विटामिन और मिनरल्स की कमी न हो। इसके साथ ही माता गर्भावस्था में आयरन व फोलिक एसिड से भरपूर भोजन ले, जो कि गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास व बढ़त के लिए जरूरी है। वहीं जन्म से छह माह तक बच्चे के लिए माँ का दूध बच्चे की सभी पोषक तत्वों की आवश्यकताओं की पूर्ति करता है। अतः छह माह तक शिशु को केवल स्तनपान कराना चाहिए।


Popular posts
पेड़ पर उल्लू बैठा है बर्बाद बगीचा करने को........ कबीर की धरती पर
Image
रीलेक्सो टीम हुई विजयी ।
नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह # गरीबों की मसीहा#कठिन परिस्थितियों में है देश के साथ
Image
सीएम ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ की वीडियो कांफ्रेंसिंग*गोरखपुर
Image
संतकबीरनगर *युवा कल्याण अधिकारी और बाबू पर पीआरडी के जवानों ने लगाया पैसा लेकर ड्यूटी लगाने और  वेतन न  देने का आरोप*
Image