छत्तीसगढ़ राज्य के मजदूरों की संतकबीरनगर पुलिस द्वारा की गई मदद*

*जनपद - संतकबीरनगर   दिनांक 08-04-2020*


*छत्तीसगढ़ राज्य के मजदूरों की संतकबीरनगर पुलिस द्वारा की गई मदद*


             वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के चलते देश 14 अप्रैल तक पूरी तरह से लाकडाउन है, जिससे विभिन्न राज्यों मे रहने वाले लोग विभिन्न राज्यों मे फंसे हुए हैं, राज्य सरकारें दूसरे राज्यों मे फंसे लोगों की समस्याओं के निराकरण के लिए प्रयासरत हैं । 
   *इसी क्रम मे छत्तीसगढ़ राज्य के गरियाबंद जिले के जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिलाधिकारी संतकबीरनगर व पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर को सूचना दी गयी कि उनके यहां के 11 मजदूर- 1- पन्ना कवर 2- कालीराम 3- भान बाई 4- गंधेश्वरी 5- लिखन ध्रुव 6- भागीरथी नायक 7-गणेश नायक 8- यशवंत ध्रुव 9- कृपाल 10- गेंदीबाई 11- घनश्याम, जनपद संतकबीरनगर मे कहीं फंसे हैं |* इनके रहने की स्पष्ट जानकारी न होने के कारण मोबाइल न0 पर संपर्क करने से पता चला कि यह लोग धनघटा थाना क्षेत्र के अन्तर्गत मड़पौना ईंट भट्ठे पर रहते हैं व वहीं दिहाड़ी मजदूरी करते हैं । एसडीएम महोदय धनघटा व प्रभारी निरीक्षक धनघटा द्वारा मौके पर जाकर पूंछताछ किया गया तो इन लोगों द्वारा बताया गया कि हम लोगों को यहां ईंट भट्ठे पर रहने व खाने पीने की कोई समस्या नहीं है हम लोगों को राशन, दवाई व अन्य जीवनोपयोगी सामाग्री समय पर उपलब्ध हो जाती है । हम लोगों को इसी जगह रहने की अनुमति प्रदान करें । प्रभारी निरीक्षक धनघटा द्वारा भी मजदूरों को राशन वितरित किया गया व कोई भी समस्या होने पर तत्काल पुलिस से संपर्क करने हेतु बताया गया ।


Popular posts
*बिग ब्रेकिंग संतकबीरनगर* जनपद संतकबीरनगर के धर्मसिंहवा में नकली मिठाइयों का जखीरा बरामद । उपभोक्ता की शिकायत पर की गई कार्रवाई । धर्मसिंहवा थाना अंतर्गत बिना लाइसेंस की चल रही थी नकली मिठाई की दुकान । नकली मिठाइयों का जखीरा बरामद । फूड इंस्पेक्टर राजमणि प्रजापति एवं थानाध्यक्ष की संयुक्त ऑपरेशन में बरामद किया गया नकली मिठाइयों का भंडार। मिठाइयों में दुर्गंध आ रही थी। संयुक्त ऑपरेशन टीम ने बरामद नकली खोया, पेठा, बर्फी, कलाकंद, मिल्क केक, आदि मिठाईयां बरामद की गई। बरामद की गई सभी मिठाईयां केमिकल से बनाई गई थी। सभी मिठाइयों में दुर्गंध आ रहा था। जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक है। मौके पर बरामद सभी मिठाइयों को फूड इंस्पेक्टर ने नष्ट करवाया। एवं आगे की कार्रवाई के लिए सैंपल गवर्नमेंट लैब में जांच के लिए भेजा जाएगा । अग्रिम कार्रवाई मिठाइयों के लैब टेस्ट रिपोर्ट आने के बाद खाद्य विभाग द्वारा की जाएगी।
Image
भोजपुरी गायक खेसारी लाल के कार्यक्रम में लोग हुए खून से लाल एवं हताहत एवं दर्जनों घायल
Image
*उमरिया प्रधानाचार्य तीन दिनों में प्रस्तुत करें शैक्षिक अहर्ता प्रमाण पत्र: डीआईओएस* -जिला विद्यालय निरीक्षक के पत्र से मचा हड़कम्प, जबाब देना हुआ मुश्किल ◼️◼️◼️ धनघटा(सन्तकबीरनगर) वरिष्ठता को दरकिनार कर कनिष्ठ व्यक्ति को पदभार दिए जाने को लेकर उमरिया बाजार इंटर कालेज ,उमरिया बाजार में प्रधानाचार्य पद का मामला गहराता जा रहा है। जिला विद्यालय निरीक्षक गिरीश कुमार सिंह ने प्रधानाचार्य को नोटिस भेजकर तीन दिनों के अंदर प्रधानाध्यापक की अहर्ता से सम्बंधित समस्त शैक्षिक प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने का फरमान जारी किया है, जिससे विद्यालय में हड़कंप मच गया है। बतातें चले कि विद्यालय में उमरिया बाजार इंटर कालेज में 31 मार्च 2020 को प्रधानाचार्य जय चन्द्र यादव के सेवानिवृत्त से रिक्त पद पर नियमानुसार विद्यालय के वरिष्ठ व अहर्ताधारी शिक्षक लाल चन्द्र यादव को तदर्थ प्रधानाचार्य का पदभार दिया जाना चाहिए था, किन्तु प्रबन्धक ने तथ्य गोपन व मनमानी करके कनिष्ठ शिक्षक राधेश्याम यादव को पदभार दे दिया, जिसको मान्यता देते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक ने हस्ताक्षर भी प्रमाणित कर दिया। मामले की शिकायत छपरा निवासी सतेंद्र कुमार यादव ने जिला विद्यालय निरीक्षक से किया था। शिकायती पत्र में साक्ष्य के साथ अवगत कराया गया है कि प्रधानाचार्य स्नातक प्रथम वर्ष व बॉम्बे आर्ट का प्रशिक्षण संस्थागत छात्र के रूप में एक ही शैक्षिक सत्र वर्ष 1983 में हासिल किया है, जो विभागीय नियमों के विपरीत है। वे इंटरमीडिएट एजुकेशन एक्ट के अनुसार प्रधानाचार्य पद की निर्धारित अहर्ता भी पूरी नही करते हैं, अर्थात बीएड प्रशिक्षित भी नही है। वे प्रबन्धक द्वारा जारी विद्यालय की जेष्ठता सूची, जिसे संयुक्त शिक्षा निदेशक ने भी प्रमाणिक माना है, के अनुसार भी वरिष्ठ नही है। शिक्षक संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी व उमरिया इंटर कालेज के पूर्व प्रधानाचार्य पारसनाथ यादव, जय चन्द्र यादव ने भी कहा है कि प्रधानाचार्य का पद वरिष्ठ व योग्य शिक्षक को दिया जाना चाहिए, जिला विद्यालय निरीक्षक का निर्णय स्वागत योग्य हैं। *किसी भी शिक्षक के साथ अन्याय नही होने देंगे: संजय द्विवेदी* ◾◾◾ सन्तकबीरनगर। प्रकरण के वावत पूछने पर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के मण्डलीय मंत्री संजय द्विवेदी ने कहा कि नियमानुसार वरिष्ठ व अहर्ताधारी शिक्षक को ही प्रधानाचार्य का पदभार दिया जाना चाहिए था, किन्तु ऐसा किया नही गया। हम जनपद में किसी भी शिक्षक के साथ अन्याय नही होने देंगे। प्रधानाचार्य का पदभार उसी को मिलेगा, जिसका हक होगा।
Image
जिलाधिकारी दिव्या मित्तल ने जनपद में ईंट भट्टों के संचालन पर विनिमय शुल्क वसूल कराए जाने के संबंध में निदेशक, भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय, उत्तर प्रदेश के द्वारा जारी निर्देशों का हवाला देते हुए बताया है कि जनपद के अधिकांश ईट भट्ठा मालिकों द्वारा विनिमय शुल्क जमा नहीं किए जाने से शासन को प्राप्त होने वाली राजस्व प्रभावित हुई है। उल्लेखनीय है कि ईट भट्ठा सत्र 2020-21 माह अक्टूबर से प्रारंभ होगा जिसके अंतर्गत जनपद में विभिन्न श्रेणी के साधारण भट्ठे तथा जिग जैग भट्ठे संचालित होंगे । जिलाधिकारी ने जनपद के समस्त ईट भट्ठा मालिकों के सूचनार्थ बताया है कि पूर्व की समस्त बकाया धनराशि जमा करने के उपरांत ही भट्ठा सत्र 2020-21 में ईंट भट्ठे के संचालन की अनुमति प्रदान की जाएगी । यदि कोई भट्ठा स्वामी द्वारा बिना पूर्व की समस्त बकाया धनराशि जमा किए बिना ईट भट्ठा संचालित करते हुए पाया गया तो उसके विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।
Image
ब्लाक प्रमुख मंटू सिंह अपनी फॉर्च्यूनर गाड़ी से लाकडाउन में करवा रहा था अंग्रेजी शराब की अवैध तस्करी#जनपद देवरिया
Image