शवदाह गृह बनने से पहले ही शिकार हो गया शव मै

जिला संवाददाता पुष्कर मणि त्रिपाठी की रिपोर्ट @ योगी सरकार में अधिकारियों के इंसानियत भी खत्म हो गई है। शवदाह गृह मैं भी कमीशन ले रहे हैं अधिकारी। बालू और ईंट तथा भवन दोयम दर्जे की ईंट से बन रहा शवदाह गृह
ऐसे ही लोग सरकार को बदनाम कर रहे है सरकारी धन का सरेआम दुरुपयोग किया जा रहा है।

देवरिया भटनी। नगर पंचायत भटनी द्वारा केवड़ा गाँव के समीप छोटी गण्डक नदी के किनारे नगर पंचायत अध्यक्ष बलराम जयसवाल के द्वारा शवदाह गृह बनवाया जा रहा है। जो 23 लाख रुपए सरकार द्वारा सविकृत किया गया है लेकिन ठेकेदार व अवर अभियंता द्वारा मिलीभगत से दोयम दर्जे का कार्य हो रहा है। उप जिलाधिकारी संजीव कुमार द्वारा जब पूछा गया की अवर अभियंता कहा हैं तो पता चला कि आए नहीं है। यहां पर ईंट का जो प्रयोग किया जा रहा है वह भी नंबर दो का है। जिसमे मानक बिहीन तरीके से कार्य किया जा रहा है। दो नंबर के ईंट का हर्डब्रिक कम होता है ये सिर्फ नींव में अधिकतर लगाया जाता है। लेकिन यहां पर पूरा कार्य ही दो नंबर के ईंट से ही हो रहा है और तो और सफेद बालू व दोयम दोयम दर्जे का ईट से बन रहे शौचायल को लेकर ही केवड़ा गाँव के लोगों द्वारा मंगलवार  को नगर पंचायत कार्यालय पर नगर अध्यक्ष के खिलाफ नारेबाजी की गई। जिस कमरे में अभिलेख रखा गया था उस कमरे का दरवाजा तोड़ने का प्रयास किया गया मौके पर पुलिस पहुँची तब मामला शांत हुआ जिस शवदाह गृह के लिए ये मामला सामने आया है वह तो मानक बिहीन है जिसको लेकर वहाँ कई थानों की पुलिस पीएसी लगाई गई है फिर भी अधिकारी गण का ध्यान उधर नहीं जा रहा है।
बताते चलें कि उसी शवदाह गृह को लेकर बीती रात नगर पंचायत अध्यक्ष के ऊपर जानलेवा हमला भी हुआ जिसमें उनकी चार पहिया गाड़ी का पिछला हिस्सा का कांच टूट गया और उनको चोटें भी आई हुईं है। इस मामले में अवर अभियंता काली प्रसाद गुप्ता ने कुछ भी बताने से इनकार किया इससे तो यह स्पस्ट हो रहा है कि शवदाह गृह का जो भी कार्य हो रहा है वो गलत तरीके से मानक बिहीन हो रहा है। �


Popular posts
पेड़ पर उल्लू बैठा है बर्बाद बगीचा करने को........ कबीर की धरती पर
Image
रीलेक्सो टीम हुई विजयी ।
नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह # गरीबों की मसीहा#कठिन परिस्थितियों में है देश के साथ
Image
सीएम ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ की वीडियो कांफ्रेंसिंग*गोरखपुर
Image
संतकबीरनगर *युवा कल्याण अधिकारी और बाबू पर पीआरडी के जवानों ने लगाया पैसा लेकर ड्यूटी लगाने और  वेतन न  देने का आरोप*
Image